IPO क्या होता है? What is IPO in Hindi?

IPO का पूरा मतलब होता है Initial Public Offering.

जब भी कोई कंपनी अपने शेयर्स को पब्लिक में फर्स्ट टाइम सेल करती है तो उस प्रोसेस को हम Initial Public Offering कहते हैं।

कहते हैं। कंपनियां बहुत सारे कारनों से आईपीओ लाती है जैसे बिज़नेस एक्सपेंसन के लिए, पुराने लोन को चुकाने के लिए, न्यू प्रोडक्ट या सर्विस को लॉन्च करने के लिए, या किसी दूसरी कंपनी को खरीदने के लिए।

जब भी कोई कंपनी आईपीओ लाने का प्लान करती है तो उसे एक डिटेल डॉक्यूमेंट बनाना पड़ता है जिसमें कंपनी की सारी डिटेल्स होती है।

कंपनियों को यह डॉक्यूमेंट SEBI के पास सबमिट करना होता है।

आईपीओ लाना एक कॉम्प्लेक्स प्रोसेस होता है इसलिए आईपीओ लाने के लिए कंपनियां इन्वेस्टमेंट बैंकों को हायर करती है जिनका काम होता है IPO लाने के लिए कंपनियों की हेल्प करना।

आईपीओ मिनिमम 3 डेज और मैक्सिमम 10 डेज के लिए ओपन रहता है। इस पीरियड को हम आईपीओ का इशू पीरियड भी कहते हैं।

आईपीओ में हम ऑनलाइन या ऑफलाइन अप्लाई कर सकते हैं।

 और वेब स्टोरीज देखने के लिए निचे क्लिक करें