रूपे क्रेडिट कार्ड लिंकेज से बढ़ेगा यूपीआई का इस्तेमाल

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने कहा है कि रुपे क्रेडिट कार्ड को यूपीआई से जोड़ने से कुल यूपीआई लेनदेन में P2M ट्रांजेक्शन की हिस्सेदारी बढ़ेगी.

रुपे क्रेडिट कार्ड (RuPay credit cards) को यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस यानी यूपीआई (UPI) को से जोड़े जाने से बिजनेस में काफी मदद मिलेगी।

दोनों को लिंक करने से यूपीआई मर्चेंट्स को ओवरड्राफ्ट, कैप्चर एंड होल्ड फेसिलिटी, एनवायसिंग सपोर्ट जैसी तमाम सुविधाएं मुहैया कराई जा सकेंगी.

रिजर्व बैंक का मानना है कि रुपे क्रेडिट कार्ड को यूपीआई से जोडे़ जाने के बाद UPI के Person-to-Merchants (P2M) ट्रांजैक्शन को बढ़ावा मिलेगा.

 जुलाई 2022 में UPI के जरिए किए गए एक Person to Merchants (P2M) ट्रांजैक्शन की औसत वैल्यू 769 रुपये थी.

नेशनल पेमेंट्स कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) के आंकड़ों के मुताबिक जुलाई 2022 में UPI के जरिए 628.8 करोड़ ट्रांजैक्शन किए गए.

पिछले साल के इसी महीने यानी जुलाई 2021 में कुल 324.7 करोड़ UPI ट्रांजैक्शन हुए थे, जिनके जरिए करीब 6.06 लाख करोड़ रुपये का लेनदेन किया गया था.

लोकल पेमेंट सिस्टम RuPay के साथ लिंक होने पर कार्ड नेटवर्क को मजबूती मिलेगी और ग्राहक वीज़ा और मास्टरकार्ड की तरह ही इसका भी हर जगह इस्तेमाल कर पाएंगे.

अगर आपको लाइफटाइम फ्री क्रेडिट कार्ड चाहिए तो निचे क्लिक करें