Small Saving Schemes में निवेश करने वालों को झटका

 देश में बढ़ती महंगाई और शेयर बाजार में गिरावट के बीच सरकार ने वित्त वर्ष 2022-23 की दूसरी तिमाही के लिए राष्ट्रीय बचत पत्र (NSC, एनएससी) और सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF, पीपीएफ) समेत अन्य लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.

पीपीएफ और एनएससी पर जुलाई-सितंबर, 2022 की तिमाही में 7.1 फीसदी और 6.8 फीसदी की वार्षिक ब्याज दरें ही मिलती रहेगी.

जाहिर है शेयर बाजार में गिरावट के बीच छोटी योजनाओं में ब्याज दरों में इजाफे की आस लगाए निवेशकों के इस फैसले से निराशा हाथ लगी है.

ब्याज दरों को स्थिर रखने के फैसले के बाद लघु बचत योजनाओं के लिए ब्याज दरें स्थिर रहेगी.

एक वर्षीय सावधि जमा योजना के तहत दूसरी तिमाही में 5.5 फीसदी की दर से ब्याज मिलता रहेगा.

 वहीं बचत जमा पर ब्याज दर चार फीसदी सालाना पर ही बनी रहेगी

 सुकन्या समृद्धि योजना पर 7.6 फीसदी से ब्याज मिलेगा.

छोटी बचत योजनाओं (Small Saving Schemes) पर पर हर तीन महीने यानी तिमाही आधार पर वित्त मंत्रालय ब्याज दर तय करता है.

 और  वेब स्टोरीज  देखने के लिए निचे क्लिक करें