September 24, 2022
LIC Jeevan Labh 936 in Hindi

LIC Jeevan Labh 936 in Hindi

शेयर करें अपने दोस्तों के साथ

LIC Jeevan Labh 936 in Hindi: – इस लेख में मैं आपको LIC के जीवन लाभ टेबल नंबर 936 पॉलिसी के बारे में बताने वाली हूँ। जीवन लाभ एक नॉन लिंक्ड प्लान है अर्थात शेयर मार्किट से जुड़ा हुआ नहीं है। LIC Jeevan Labh Policy एक लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट वाली पॉलिसी है जिसमें बीमाधारक को पॉलिसी पीरियड से कुछ साल कम समय तक प्रीमियम का भुगतान करना होता है।

एलआईसी जीवन लाभ 936 प्लान | LIC Jeevan Labh 936 in Hindi

जीवन लाभ 936 प्लान क्या है? (What is LIC Jeevan Labh 936 Plan?)

जीवन लाभ (LIC Jeevan Labh Plan) एक विथ प्रॉफिट प्लान है। इस पॉलिसी के अंतर्गत बीमाधारक को दो तरह के बोनस मिलते हैं। पहला है वेस्टेड सिंपल रिवेसनरी बोनस और दूसरा है फाइनल एडिशनल बोनस। यह एक बहुत ही अच्छी पॉलिसी है जिसमें आप अपने बच्चे की शादी या शिक्षा को प्लान करने के लिए या अपने लाइफ को लॉन्ग टर्म फाइनेंसियल गोल को हासिल करने के लिए या इनकम टैक्स बचाने के लिए या वैसे लोग जो LIC की कोई भी पॉलिसी लेना चाहते हैं वैसे लोग इस पॉलिसी को ले सकते हैं। 

LIC Jeevan Labh 936 पॉलिसी के लिए योग्यता (LIC Jeevan Labh 936 Plan Eligibility Criteria)

प्रवेश की नुन्यतम उम्र8 वर्ष
पॉलिसी पीरियडइस पॉलिसी में पॉलिसी पीरियड के 3 ऑप्शन उपलब्ध है। पहला ऑप्शन 16 वर्ष का है, दूसरा ऑप्शन 21 वर्ष का है, और तीसरे का पॉलिसी पीरियड 25 वर्ष का है।
प्रवेश  की अधिकतम आयु16 वर्ष की पॉलिसी पीरियड के लिए 59 वर्ष है।
21 वर्ष की पॉलिसी पीरियड के लिए 54 वर्ष है।
25 वर्ष की पॉलिसी पीरियड के लिए 50 वर्ष है।
नुन्यतम सम एश्योर्ड2 लाख रुपये और यह तीनों ऑप्शन के लिए सेम है।
अधिकतम सम एश्योर्डअधिकतम सम एश्योर्ड की किसी भी ऑप्शन में कोई लिमिट नहीं है।
प्रीमियम पेमेंट टर्म16 वर्ष की पॉलिसी पीरियड के  10 वर्ष तक प्रीमियम का भुगतान करना होगा।
21 वर्ष की पॉलिसी पीरियड के  15 वर्ष तक प्रीमियम का भुगतान करना होगा।
25 वर्ष की पॉलिसी टर्म के लिए 16 वर्ष तक प्रीमियम का भुगतान करना। होगा 
प्रीमियम पेमेंटमासिक, तिमाही, छमाही और सालाना।

लोन फैसिलिटी (Loan Facility):

इस पॉलिसी के अंतरगत लोन की सुविधा दो वर्ष के प्रीमियम का भुगतान करने के बाद हो जाता है। चालू पॉलिसी के लिए लोन सरेंडर वैल्यू का 90% मिलता है। और पेड-अप वैल्यू पॉलिसी के सरेंडर वैल्यू का 80% लोन मिलता है।

सरेंडर ऑफ़ पॉलिसी (Surrender of Policy):

2 वर्ष या इससे अधिक समय तक के पुरे प्रीमियम का भुगतान करने के बाद इस पॉलिसी को सरेंडर कर सकते हैं। यदि बीमाधारक पॉलिसी को सरेंडर करते हैं तो उन्हें हमेशा नुकसान ही होता है। इसलिए पॉलिसी लेते समय सोच समझकर उतने ही सम एश्योर्ड की पॉलिसी ले जिसका प्रीमियम भरने में आपको दिक्कत न हो और आपको पॉलिसी सरेंडर करने की आवश्यकता न पड़े। यदि फिर भी पॉलिसी सरेंडर करने की आवश्यकता मिलती है तो पहले इसकी पेड-अप वैल्यू की जानकारी जरूर ले लें।

राइडर्स (Riders):

इस पॉलिसी के अंतर्गत 5 राइडर्स उपलभ्ध है –

  • एक्सीडेंटल डेथ और डिसेबिलिटी बेनिफिट
  • एक्सीडेंट बेनिफिट राइडर
  • न्यू टर्म एसुरेन्स राइडर
  • न्यू क्रिटिकल इलनेस बेनिफिट राइडर
  • प्रीमियम वेभर बेनिफिट राइडर

यदि आप यह पॉलिसी बच्चे के नाम पर ले रहे हैं तो आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वह  प्रीमियम वेभर बेनिफिट राइडर को जरूर लें ताकि प्रीमियम पे करने वाले गारजेंस के साथ कुछ हो जाए, तो इस पॉलिसी के अंतर्गत प्रीमियम माफ़ हो जाए। और समय पर प्लान की हुई मैचुरिटी भी मिल जाए। राइडर्स का चुनाव आप अपने जरुरत के अनुसार कर सकते हैं। राइडर के लिए बीमाधारक को अतिरिक्त प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है और इसके बेनिफिट भी बेस पॉलिसी के बेनिफिट के अतिरिक्त होते हैं।

ग्रेस पीरियड (Grace Period):

ग्रेस पीरियड का मतलब होता है प्रीमियम को भरने के लिए अतिरक्त। इस ग्रेस पीरियड के दौरान  ही पूरी कवरेज बनी रहती है। यदि बीमाधारक ने सालाना, छमाही या फिर तिमाही प्रीमियम मोड का इस्तेमाल करते हैं तो उन्हें अतिरिक्त समय 30 दिनों का मिलता है। यदि बीमाधारक मासिक प्रीमियम मोड का चुनाव  करते हैं तो इसके लिए ग्रेस पीरियड 15 दिनों का है। 

बेनिफिट (Benefit): 

डेथ बेनिफिट – पॉलिसी लेने के बाद यदि पॉलिसीधारक के साथ कुछ अनहोनी होती है और वह अपने परिवार के बीच नहीं रहते हैं, तो नॉमिनी को डेथ बेनिफिट का भुगतान होगा। पॉलिसी देने के दिन  पॉलिसी पीरियड ख़त्म होने के बीच कभी भी पॉलिसीधारक को कुछ होता है तो नॉमिनी को पॉलिसी का सम एश्योर्ड तो मिलेगा ही साथ में बोनस भी मिलेगा। इसका अमाउंट इस बात पर निर्भर करेगा कि पॉलिसी कितने समय तक चली है। पॉलिसी जितने ज्यादा समय तक चलेगी बोनस का अमाउंट उतना ही ज्यादा होगा। 

टैक्स बेनिफिट – इस पॉलिसी के अंतर्गत, बीमाधारक जो प्रीमियम पे करते हैं उसकी छूठ उन्हें इनकम टैक्स के सेक्शन 80C के अंतर्गत मिलती है और जो मैचुरिटी बेनिफिट या डेथ बेनिफिट का भुगतान होता है, वह इनकम टैक्स के सेक्शन 10 (10d) के अंतर्गत कम्प्लीटली टैक्स फ्री होता है। 

यह भी पढ़े: –

LIC की पॉलिसी पर लोन कैसे लें?
एलआईसी जीवन अमर प्लान (टेबल नं. 855)
एलआईसी नवजीवन प्लान (टेबल न. 853)
LIC धन रेखा पॉलिसी (Plan No. 863)
LIC बचत प्लस प्लान 861 सभी ऑप्शन की पूरी जानकारी
एलआईसी सरल जीवन बिमा प्लान 859 टर्म प्लान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

TATA Capital EMI Card कैसे बनाए? फिनबूस्टर क्रेडिट कार्ड ऑनलाइन कैसे अप्लाई करें Dhani One Freedom Card Kya Hai? Samsung Fingerprint Credit Card क्या है? Bandhan Bank One Credit Card Kaise Le
TATA Capital EMI Card कैसे बनाए? फिनबूस्टर क्रेडिट कार्ड ऑनलाइन कैसे अप्लाई करें Dhani One Freedom Card Kya Hai? Samsung Fingerprint Credit Card क्या है? Bandhan Bank One Credit Card Kaise Le