September 27, 2022
How to Choose Best Health Insurance Policy in 2022

How to Choose Best Health Insurance Policy in 2022

शेयर करें अपने दोस्तों के साथ

How to Choose Best Health Insurance Policy: जब से कोविड क्राइसिस को करीब से हम सब ने महसूस किया है क्युंकि तब समझ में आई अपनों की वैल्यू, फिट और हैल्थी बॉडी की इम्पोर्टेंस और हेल्थ एमरजेंसिस को हैंडल में आने वाली दिक्कते भी। क्योंकि इसी पेंडेमिक पीरियड में हमें एहसास हुआ कि हेल्थी रहने के लिए सही डाइट और कोविड गाइड लाइन्स को फॉलो करना बहुत जरुरी है। तो हेल्थ इंश्योरेंस लेना भी कितना ज्यादा इम्पोर्टेन्ट है।

वैसे ऐसा नहीं है कि हमें हेल्थ इंश्योरेंस प्लान (Health Insurance Policy) लेने का ख्याल ही कोविड काल में आया है लेकिन इतना जरूर है कि जब मेडिकल इमरजेंसी आती है तब फाइनैंशली सपोर्ट कितना ज्यादा जरुरी होता है यह अच्छे से समझ आ गया इसलिए किसी ऐसे पेंडेमिक का इंतजार करते रहेंगे या एक्सीडेंट जैसी इमरजेंसी में हेल्थ इंश्योरेंस की वैल्यू को समझेंगे तो बहुत देर हो जाएगी। तो बेहतर तो यही होगा कि हम अभी हेल्थ इंश्योरेंस की इम्पोर्टेन्ट को समझ लें ताकि कभी भी  कोई हेल्थ इमरजेंसी आ जाए तो हमें तुरंत फाइनेंसियल हेल्प मिल सके क्योंकि अनएक्सपेक्टेड मेडिकल सिचुएशन तो कभी भी आ सकती है। ऐसे में खुदको और अपने फॅमिली को प्रोटेक्ट करना जरुरी है ताकि हेल्थ से जुड़े रिस्क से डील करने के लिए हम एडवांस्ड में फाइनैंशली प्रोटेक्टेड रहे और यह पॉसिबल हो सकता है हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी से। इसलिए आज हम आपको बताने वाले हैं कि यह हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी (Health Insurance Policy) होती क्या है? इसे कैसे लिया जाता है? और एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी (Health Insurance Policy) लेते समय किन किन बातों का ध्यान रखा जाना चाहिए।

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी होती क्या है? What is a Health Insurance Policy?

 हेल्थ इंश्योरेंस एक ऐसा कॉन्ट्रैक्ट है जिसमें इंश्योरेंस कंपनी मेडिकल कवरेज प्रोवाइड कराती है। इसमें हॉस्पीटलाइज़शन, सर्जेरीस और डे केयर प्रोसीजर आदि कवर होते हैं। इस कॉन्ट्रैक्ट के अकॉर्डिंग जब किसी इंश्योर्ड पर्सन कभी किसी मेडकल इमरजेंसी में पड़ जाए जैसे कि बीमारी या एक्सीडेंट जिसकी बजह से उसे हॉस्पीटलाइज़्ड होना पड़े तो ऐसे में वह इंश्योरेंस कंपनी उस इंश्योर्ड पर्सन के मेडिकल एक्सपेंसेस का कम्पन्सेशन देने की गारंटी देती है यानि एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी हेल्थ इश्यूज में फाइनेंसियल स्टेबिलिटी  प्रोवाइड कराती है। तो फिर तो यह बहुत ही इम्पोर्टेन्ट हुई क्योंकि अचानक किसी हेल्थ इशू की बजह से हॉस्पिटल में एडमिट होना पड़े तो खर्चा तो बहुत आ सकता है और उसे देखने, समझने और हैंडल करने की कंडीशन में वह व्यक्ति होगा या नहीं जो एडमिट है, यह कहना तो बहुत मुश्किल है। ऐसे में अगर हेल्थ इंश्योरेंस ले करके रखा जाए तो उस टफ टाइम में उस व्यक्ति की मेडिकल केयर के लिए फाइनेंसियल सपोर्ट मिल जाएगा,  जो कि वाकई में बहुत जरुरी है। और जहाँ पर हेल्थ इश्यूज की बात है तो यह तो हम सभी जानते हैं कि जिंदगी कितनी अनप्रेडिक्टेबल है, इसमें कब क्या जाए ये हम नहीं जान सकते और मेडिकल केयर कितनी एक्सपेंसिव है यह भी हमें पता है। तो ऐसे में हम अपनी और अपनों की हेल्थ को प्रोटेक्ट करने के लिए हेल्थ इंश्योरेंस तो ले ही सकते हैं। 

हेल्थ इंश्योरेंस लेने के लिए क्या क्या करना होता है? What do I have to do to Get Health Insurance?

अब हम जानते हैं कि हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance Policy) लेने के लिए आपको क्या क्या करना होता है। तो इसके लिए policy bazaar आपकी हेल्प कर सकता है क्योंकि policy bazaar अपनी कंस्यूमर की रिक्वायरमेंट को समझता है और उन्हें सही पॉलिसी सजेस्ट करने के साथ साथ पुरे प्रोसेस पर उन्हें गाइड भी करता है। यह एक ऑनलाइन पोर्टल है इसलिए यहाँ पर आप कम प्रीमियम में एक अच्छा प्लान ले सकते हैं, जो आपको ऑफलाइन किसी एजेंट या बैंक से लेने पर तो बिलकुल नहीं मिल सकता। policy bazaar क्लेम टाइम पर अपने कस्टमर को सपोर्ट भी करता है और वो ऐसे की क्लेम के टाइम पर जैसे आप policy bazaar Representative से कांटेक्ट करेंगे, उसके अगले 30 मिनट में वह आपको रीच आउट करेंगे।

policy bazaar 1 करोड़ रूपए का इंश्योरेंस ऑफर करता है जो केवल 400/ per month से शुरू होता है। यहाँ आपको प्लान्स की इतनी सारी चोइसस मिल जाएगी यानि 250 से भी ज्यादा प्लान्स में से आप अपने लिए बेस्ट प्लान चूस कर सकते हैं। यहाँ पर सारे Covid-19 ट्रीटमेंट्स भी कवर किए जाते हैं और इस प्लेटफार्म से इंश्योरेंस खरीदना भी एकदम इंस्टेंट है क्योंकि इसके लिए आपको किसी तरह मेडिकल्स की जरुरत नहीं पड़ेगी और सेक्शन 80D के अंडर आपको 75,000 तक का टैक्स बेनिफिट्स भी मिल सकता है। और अब policy bazaar की एक बहुत ही खास बात जान ही लीजिए कि यह आपको केवल 30 मिनट में क्लेम सपोर्ट प्रोवाइड कराता है और 100% क्लेम्स असिस्टेंट्स ऑफर करने वाला policy bazaar आपको डेडिकेटेड रिलेशनशिप मैनेजर भी प्रोवाइड कराएगा। तो policy bazaar का यही सपोर्ट आपको हॉस्पिटल में भी मिलेगा क्योंकि कई बार कस्टमर को हॉस्पिटल में क्लेम के टाइम पर कई तरह की प्रोब्लेम्स फेस करनी पड़ती है।

policy bazaar के  रीप्रेज़ेंटेटिव्स आपसे हॉस्पिटल या घर पर 30 मिनट में आ जाते हैं हेलप करने के लिए। तो एक कस्टमर को क्लेम्स से जुडी जितनी भी तरह की प्रोब्लेम्स फेस करनी पड़ सकती है, उनके लिए policy bazaar का डेडिकेटेड क्लेम्स देपार्टमेट्स भी है। तो देखा आपने हेल्थ इंश्योरेंस लेने के लिए आपको इसमें एक छोटा सा एनुअल प्रीमियम पे करना होता है और यह अमाउंट आपके सेलेक्ट किए हुए प्लान के  अकॉर्डिंग होता है। और अगर आप हर महीने 400 रुपये का छोटा सा अमाउंट अपने हेल्थ इंश्योरेंस के प्रीमियम के तौर पर देने लगेंगे तो आपका हेल्थ इंश्योरेंस प्लान (Health Insurance Policy) मेडिकल इमरजेंसी के आपके स्ट्रेस को बहुत ही कम कर देगा, क्योंकि इस प्रीमियम के साथ आपको हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी का फाइनेंसियल सपोर्ट जो मिल जाएगा। आजकल हेल्थ इंश्योरेंस प्लान के बहुत सारे ऑप्शंस अवेलेबल है तो ऐसे में अपने लिए प्लान्स चूस करने से पहले थोड़ी रिसर्च जरूर करे। 

हेल्थ इंश्योरेंस लेने से पहले इन बातों का ध्यान रखें Things to Keep in Mind Before Buying Health Insurance

 यह हेल्थ इंश्योरंस प्लान्स (Health Insurance Policy) कई तरह के होते हैं। जैसे इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस, फॅमिली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस, सीनियर सिटीजन्स हेल्थ इंश्योरेंस और क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस आदि। इसलिए अपने जरुरत के हिसाब से हेल्थ इंश्योरेंसपॉलिसी को चूस करे। डिफरेंट हेल्थ इंश्योरेंस कंपनीज से कम्पैर करे और अपने रिक्वायरमेंट्स को ध्यान में रख करके ही दो या तीन कंपनी को शॉर्टलिस्ट करे और फिर यह पता लगाए कि कौन सी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी आपको बेस्ट ऑफर्स और बेस्ट फैसिलिटीज दे रही है। और आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी आपको प्री एंड पोस्ट हॉस्पीटलाइज़ेशन्स कवरेज और इन पेशेंट और आउट पेशेंट हॉस्पीटलाइज़ेशन के लिए पर्याप्त कवरेज दे रही है या नहीं, उसमे एनुअल हेल्थ चेकअप्स और टैक्स बेनिफिट्स का ऑप्शन है या नहीं, क्रिटिकल इलनेस कवर, ओपीडी कवर, रूम रेंट वेवर कवर उसमे इंक्लूड है या नहीं, क्या आपकी पॉलिसी डॉक्टर कंसल्टेशन फीस, मेडिकल टेस्ट कॉस्ट, एम्बुलेंस चार्जेज आदि को भी कवर कर रही है, क्या आपके प्लान में नो क्लेम बोनस, कैशलेस हॉस्पीटलाइज़ेशन, डे केयर ट्रीटमेंट और ऑनलाइन पॉलिसी रिन्यूअल जैसी फैसिलिटीज है या नहीं। तो यह भी जरूर से चेक करे मैक्सिमम कवरेज तो मिल रहा है न। और इस तरह से इन सारी बातों को ध्यान में रखकर आप अपने लिए और अपनों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स ले सकते हैं। इसलिए जब आपको अब हेल्थ इंश्योरेंस की इम्पोर्टेंस समझमे आ गई है तो बिना देर किए हेल्थ इंश्योरंस प्लान ले लीजिए। 

यह भी पढ़े: –

Health Insurance Me Kya Kya Cover Nahi Hota
Aditya Birla Activ Health Platinum Enhanced Plan Review
Health Insurance में क्लेम कब नहीं करना चाहिए
हेल्थ इन्शुरन्स क्या होता है और उससे जुड़ी कुछ जरुरी बातें जो आपको पता होनी चाहिए
हेल्थ इन्शुरन्स में क्लेम कैसे करते हैं और पैसे कैसे मिलते हैं जानें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

TATA Capital EMI Card कैसे बनाए? फिनबूस्टर क्रेडिट कार्ड ऑनलाइन कैसे अप्लाई करें Dhani One Freedom Card Kya Hai? Samsung Fingerprint Credit Card क्या है? Bandhan Bank One Credit Card Kaise Le
TATA Capital EMI Card कैसे बनाए? फिनबूस्टर क्रेडिट कार्ड ऑनलाइन कैसे अप्लाई करें Dhani One Freedom Card Kya Hai? Samsung Fingerprint Credit Card क्या है? Bandhan Bank One Credit Card Kaise Le