September 24, 2022
health insurance policy

health insurance policy

शेयर करें अपने दोस्तों के साथ

Health Insurance Policy को दूसरी इंश्योरेंस पॉलिसी की तरह ही हर साल रिन्यू कराना होता है। Health Insurance Policy रिन्यू करवाते समय कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत ही जरुरी है। तो आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे कुछ ऐसी बातों को जिनकी जानकारी आपको होना बहुत ही जरुरी है। 

Health Insurance Policy को रिन्यू करते समय  यह 5 बातें ध्यान रखे – 

1 . बीमा राशि पर करें विचार: 

बढ़ती हुई मेडिकल जरूरतों को ध्यान में रखकर आपको अपनी बीमाराशि आपके लिए प्राप्त है कि नहीं इस पर जरूर ही विचार करना चाहिए। हो सकता है आपके द्वारा शुरुवात में चुनी गई बीमाराशि अभी की मेडिकल एक्सपेंस के सामने आपके लिए पर्याप्त ना हो। तो आपको इस पर विचार करके रिन्यू के समय पर अगर आप चाहे तो अपनी बीमाराशि को यहाँ पर बचा सकते हैं। 

2 . नई बीमारियां: 

अगर आपने अपनी परिवार की हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी ली हुई है और परिवार की किसी ही सदस्य को अगर कोई नई बीमारी डिटेक्ट होती है तो इंश्योरेंस पॉलिसी रिन्यू कराते समय आपने जहाँ से भी Health Insurance Policy ली है वहां इसकी जानकारी जरूर देनी चाहिए। जिससे अगर आगे चलकर कोई क्लेम आता है तो उस क्लेम को सेटल करने में आपको कोई दिक्कत ना हो। तो कोई भी नई बीमारी डिटेक्ट होती है तो इसकी जानकारी आपको अपनी इंश्योरेंस कंपनी को देनी चाहिए। 

3 . समय पर रिन्यू कराए अपनी बीमा पॉलिसी: 

अगर आप अपनी बीमा पॉलिसी को सही समय पर रिन्यू नहीं कराते हैं तो आपकी बीमा पॉलिसी यहाँ पर समाप्त हो जाएगी। और पॉलिसी में मिलने वाले बेनिफिट्स आपको नहीं मिलेंगे। फिर जब बाद में आप नए से पॉलिसी लेंगे तो उसमे नए से आपको ऑपरेशन और नए नए बीमारियों पर लगने वाले वेटिंग पीरियड्स नए से लगेंगे। 

4 . ग्रेस पीरियड का इस्तेमाल ना करे: 

Health Insurance Policy रिन्यू कराते समय 30 दिनों का ग्रेस पीरियड यानि अगर आप इंश्योरेंस के अवधि के दौरान अपनी पॉलिसी को रिन्यू नहीं कराते हैं तो कंपनी आपको 30 दिन का एक्स्ट्रा पीरियड देती है जिसके दौरान आप इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू करा सकते हैं। लेकिन इस 30 दिनों में अगर कोई भी क्लेम आता है तो उसका भुगतान बीमा कंपनी नहीं करती है। तो कभी भी ग्रेस पीरियड का इस्तेमाल ना करे। इंश्योरेंस पॉलिसी को अपने इंश्योरेंस के अवधि के दौरान ही रिन्यू कराए जिससे आपको क्लेम में कोई भी तकलीफ ना हो। 

5 . हेल्थ इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी: 

Health Insurance Policy रिन्यू कराते समय आप दूसरी कंपनी के ऑप्शंस को भी देख सकते हैं। अगर किसी और कंपनी में आपको ज्यादा बेनिफिट्स मिल रहे हैं तो आप हेल्थ इंश्योरेंस के पोर्टेबिलिटी का उपयोग करके दूसरी कंपनी के प्लान्स को भी ले सकते हैं। लेकिन यहाँ पर आपको इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि अगर आप किसी दूसरे कंपनी के प्लान्स को चूज़ करते हैं तो वहां पर अपनी सही सही हेल्थ कंडीशंस उस नई कंपनी को बताए जिससे आपको बाद में क्लेम लेने में कोई दिक्कतें ना हो। और सिर्फ कम प्रीमियम देखकर आपको किसी भी कपनी या प्लान का चुनाव नहीं करना चाहिए।

अगर आपको अपनी ही कंपनी में बेनिफिट्स ज्यादा मिल रहे हैं तो आपको उसी कंपनी के साथ जुड़े रहना चाहिए। जिससे आपको आगे क्लेम लेने में किसी भी तरह की कोई समस्या ना हो। 

यह भी पढ़े: –

कुछ LIC Plans जिन्हे आपको जरूर देखना चाहिए:-

Leave a Reply

Your email address will not be published.

TATA Capital EMI Card कैसे बनाए? फिनबूस्टर क्रेडिट कार्ड ऑनलाइन कैसे अप्लाई करें Dhani One Freedom Card Kya Hai? Samsung Fingerprint Credit Card क्या है? Bandhan Bank One Credit Card Kaise Le
TATA Capital EMI Card कैसे बनाए? फिनबूस्टर क्रेडिट कार्ड ऑनलाइन कैसे अप्लाई करें Dhani One Freedom Card Kya Hai? Samsung Fingerprint Credit Card क्या है? Bandhan Bank One Credit Card Kaise Le